RSS

मोबाइल का उपयोग सेहत के लिए खतरनाक

20 Feb

अब एक सरकारी पैनल ने माना है कि मोबाइल फोन सेहत के लिए काफी खतरनाक हो सकते हैं। मोबाइल फोन और मोबाइल टावर्स से जो रेडिएशन होता है उससे याददाश्त जाने, नींद न आने और पाचन संबंधी गड़बड़ियों का कारण बन सकता है। इतना ही नहीं तितलियों, मधुमक्खियों और गौरैयों के लुप्त होने के लिए भी यह रेडिएशन जिम्मेदार है।

संचार तथा सूचना तकनीक मंत्रालय की ओर से गठित इस आठ सदस्यीय समिति की अध्यक्षता दूर संचार विभाग के सलाहकार (तकनीक) राम कुमार ने की। समिति ने कहा है कि स्पेशिफिक एव्जॉर्प्शन रेट (एसएआर) यानी सार के तय मानक का पालन न करने वाले मोबाइल फोन बैन कर दिए जाने चाहिए। सार वह पैमाना है जिससे पता चलता है कि शरीर रेडियो फ्रिक्वेंसी एनर्जी की कितनी मात्रा बर्दाश्त कर सकता है।

समिति ने यह भी कहा है कि मोबाइल टावर्स रिहायशी इलाकों में या स्कूलों और बच्चों के खेल के मैदानों के आसपास नहीं लगाए जाने चाहिए। भारतीय दिशाननिर्देशों के मुताबिक स्थानीय सार वैल्यू 2 वॉट प्रति किलोग्राम है (औसतन 6 मिनट अवधि के लिए और 10 ग्राम औसत मास के आधार पर)। समिति ने इसे अमेरिकी पैमानों के अनुरूप 1.6 वॉट प्रति किलोग्राम करने की सिफारिश की है। साभार-नभाटा।

 
Leave a comment

Posted by on February 20, 2011 in Uncategorized

 

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

 
%d bloggers like this: